बरेली। 25 सितंबर ।गंगाशील महाविद्यालय के तत्वाधान में गंगाशील ग्रुप के सिटी ऑफिस में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी की अध्यक्षता जाने-माने शिक्षाविद शब्दों के जादूगर डॉ एन एल शर्मा ने की।साहित्य भूषण सुरेश बाबू मिश्रा गोष्ठी के मुख्य वक्ता रहे। गोष्ठी का संचालन प्रख्यात कवि रोहित राकेश ने किया।
सर्व प्रथम सभी अभ्यागत ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी
मुख्य वक्ता साहित्य भूषण सुरेश बाबू मिश्रा ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजनीतिक के निष्काम कर्मयोगी थे। वह राजनीति में शुचिता शालीनता के प्रतीक पुरुष थे ।


डॉ शशि वाला राठी ने उन्हें एकात्म मानव वाद का प्रणेता बताया।।डॉ राठी नेकहा की दीनदयाल जी को समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के कल्याण की चिंता थी। डॉ शशि वाला राठी ने बताया गंगाशील महाविद्यालय में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पीठ की स्थापना हो चुकी है। विद्यालय में पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की स्मृति में कई बड़े आयोजन किए जा चुके हैं ।
डॉ एन एल शर्मा ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक युग पुरुष थे। उन्होंने विश्व को एकात्म मानव वाद के रूप में एक नया राजनीतिक दर्शन दिया । रोहित राकेश ने कहा बरेली में उनके नाम पर बसी डीडी पुरम कॉलोनी को दीनदयाल पुरम के नाम से ही पुकारा जाना चाहिए यह उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। स्वाति गुप्ता ने सभी का आभार व्यक्त किया।
कार्यक्रम में डा. बीरेंद्र वर्मा, चितवन, डा. शिल्पा जैन, विकास अग्रवाल, यशपाल, मोहित शर्मा, मामक चन्द्र अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।

By Anurag

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *