उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के श्यामगंज कार्यालय पर गल्ला व्यवसाय से संबंधित सभी ट्रेड जैसे किराना, दलहन, तिलहन, दाल मिल, राइस मिल, फ्लोर मिल, मेंथा व लकड़ी कारोबारियों की एक बैठक मंडी समिति के नए प्रभावी कानून के विरोध में संपन्न हुई।  प्रांतीय महामंत्री राजेंद्र गुप्ता ने कहा कि सरकार ने किसानों की मांगों को मान लिया। प्रदेश के सभी व्यापारी स्वागत करते हैं परंतु मंडियों से संबंधित व्यापारियों को मंडी टैक्स से जो राहत मिली थी उसको अब कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मंडी टैक्स को समाप्त करने की मांग व्यापार मंडल पिछले काफी समय से कर रहा था। गल्ला मंडी महामंत्री अवधेश अग्रवाल डब्बू ने कहा

कि मंडी में अधिकारियों का भ्रष्टाचार पुनः प्रारंभ हो गया है। आज एक व्यापारी जब नया पंजीकरण कराने गया तो उससे ₹100000 की रिश्वत मांगी गई ।यह प्रक्रिया आगे और विकराल रूप लेगी। इसके लिए व्यापार मंडल पुरजोर विरोध करेगा। दाल मिल एसोसिएशन के महामंत्री सुरेश जैन ने कहा भारतीय जनता पार्टी की सरकार अब व्यापारियों की सरकार नहीं रही ।व्यापारियों के शोषण और दोहन वाले सारे कानून बनाकर अधिकारियों को लूट की खुली छूट दे रखी है । इस बार चुनाव में व्यापारी अपनी प्रतिक्रिया दिखाएगा। महानगर महामंत्री राजेश जसोरिया ने दाल, किराना, गल्ला ,तिलहन ,दलहन, राव, गुड,मेंथा ,लकड़ी आदि के पदाधिकारियों से 17 दिसंबर को दामोदर स्वरूप पार्क में विराट धरना देने का संकल्प कराया और यदि उसके पश्चात भी सरकार ने संज्ञान नहीं लिया तो उक्त व्यवसायों की मंडियां अनिश्चितकालीन बंद करेंगे। प्रांतीय उपाध्यक्ष संजीव चांदना  ने बड़ी संख्या में धरने में भाग लेने की सभी व्यापारियों से अपील की। बैठक में गुलशन सब्बरवाल, त्रिलोकीनाथ गुप्ता ,चंद सेन गंगवार, पीके अग्रवाल, जुगल सुखानी ,संजीव अग्रवाल टिल्लू ,गौतम सैनी, अश्वनी शर्मा ,शैलेश खंडेलवाल, मनोज खंडेलवाल, कपिल अग्रवाल, मोहित अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *