कबिरा खड़ा बजार में मांगे सबकी खैर ना काहू से दोस्ती ना काहू से बैर बरेली।

मानव सेवा क्लब के तत्वावधान में मंगलवार को कहरवान स्थित कार्यालय परिसर में संत कबीर दास की जयंती पर एक काव्य गोष्ठी और एक गरीब कन्या की शादी में जरूरी सामान देने का आयोजन किया गया। अध्यक्षता करते हुए नगर के प्रतिष्ठित कवि रमेश गौतम ने कहा कि कबीर दास के दोहे 500 वर्ष से भी ज्यादा पहले लिखे गए हैं जो आज भी प्रासंगिक हैं। इन्द्र देव त्रिवेदी ने कबीर के दर्शन की चर्चा करते हुए कहा कि बड़े ही आश्चर्य की बात है कि कबीर का हर दोहा तर्क संगत है। कमल सक्सेना ने मां शारदे की वंदना प्रस्तुत कर कार्यक्रम का प्रारंभ किया। सीमा सक्सेना, डा. सुरेश रस्तोगी, राजबाला धैर्य, उपमेन्द्र सक्सेना ने काव्यपाठ किया। कबीर दास की जयंती पर एक बहुत गरीब कन्या की शादी में जरूरत का सामान भी दिया गया। कार्यक्रम का संचालन सुरेन्द्र बीनू सिन्हा ने किया। सभी का आभार इं. ए. गुप्ता ने व्यक्त किया। निर्भय सक्सेना और बी.बी.सिन्हा की विशेष उपस्थिति रही।

कबीर दास की जयंती पर गोष्ठी में अपना विचार व्यक्त करती सीमा सक्सेना

By Anurag

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *