पिछले 2 सालो में अलका सिंह ने बिथरी चैनपुर के गांव और घरो में अपनी पहचान बना ली है खासकर अपने NGO के माध्यम से उन्होंने जो जनता की सेवा की है वो किसी से छिपी नहीं है भाजपा के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ नारे से अलका सिंह भाजपा में गयी थी और दिन रात भाजपा का प्रचार किया लेकिन भाजपा में उनके साथ धोका किया उनका कहना है महिलाओ को लेकर भाजपा की सोच पिछड़ी है जिले में एक भी महिला को भाजपा ने टिकट नहीं दिया इसी बीच अलका सिंह कांगेस महासचिव प्रियंका गाँधी के नारे लड़की हूँ लड़ सकती हूँ से प्रेरित होकर कांग्रेस में ज्वाइन हो गयी अब उनके 123 बिथरी चैनपुर से उम्मीदबार होने की प्रबल सम्भाबना है जिसको लेकर उनके विरोधी परेशान हो रहे है


अलका सिंह के आने से कांग्रेस को विथरी में मजबूत प्रत्याशी मिल गया ,अलका सिंह वो नाम है जोकि विथरी में जनसेवा के माध्यम से घर घर पहुँच चुकी है ऐसे में अलका सिंह को पूरा विथरी घूमने में अधिक समय नही लगेगा दूसरा घर गाँव मे अलका सिंह का कुछ ना कुछ कार्यकर्म ज़रूर हो चुका है मतलब उस गाँव मे उनके समर्थक भी खूब होंगे सबसे महत्वपूर्ण बात जिसमे कांग्रेस मात खा जाती थी वो है बूथ मैनेजमेंट लेकिन अलका सिंह उस भाजपा से आई है जिसमे बूथ मैनेजमेंट का कितना बड़ा रोल होता है सभी जानते है और भाजपा को कैसे घेरना है ये भी अलका सिंह को बाखूबी पता है ऐसे में अलका सिंह भाजपा को उसके ही तीर से उसे घायल करने की तैयारी कर चुकी है
एक बहुत बड़ा मुस्लिम तबका IMC को समर्थन करता है जिसका कांग्रेस को एकमुश्त समर्थन हासिल है
बाकी अलका सिंह का अपना सजातीय ठाकुर वोट भी उनके साथ है सबसे बड़ी बात उस वोटर की देखने की होगी जोकि विथरी में भाजपा प्रत्याशी पप्पू भरतौल का टिकट कटने से नाराज है अगर वो वोटर कांग्रेस से जुड़ गया तो 1991 के बाद कांग्रेस एक बार फिर विथरी सीट पे कब्जा कर सकती है अब सभी की नजरें अलका सिंह पर है कि वो भाजपा को उसकी की चाल से कैसे मात देती है और दूसरी तरफ अलका सिंह की उम्मीदबार होने की प्रबल सम्भाबना से उनके विरोधी प्रत्याशीओ का चैन उड़ गया है

By Anurag

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *