नबाबगंज से आम आदमी पार्टी प्रत्याशी सुनीता गंगवार अपने किये कामो से नबाबगंज में बड़े नेताओ का खेल बिगाड़ रही है
अभी तक जाति धर्म के नाम पर होने वाले चुनाव को सुनीता गंगवार ने एक नया रंग दे दिया है और दिल्ली के आप सरकार के मॉडल मुफ्त बिजली ,पानी , शिक्षा के मुद्दों पे लोगो के बीच ले जा रही है जिससे जनता खासकर युवा और औरते उन्हें भरपूर सहयोग दे रही है नबाबगंज विधानसभा के गांव बरौर ,बरखान,भादपुरा,भटपुरा जागीरी,बीजा मौउ,चमन नगरिया,जमुनिया ,करुआ साहिब गंज,याकूबपुर,टांडा सादात,सैदपुर सरौरा, सेथल सहित अनेको गावो में उनकी घर घर दस्तक हो चुकी है इससे पहिले लोग उनकी संस्था पैनी नज़र को जानते रहे है उनकी असली पहिचान तब हुई जब कलापुर पुलिया जोकि अंग्रेजो के ज़माने में बनी थी अपने जाम के लिए जानी जाती थी
सुनीता गंगवार के धरना और अनशन का ही नतीजा है आज चौड़ी कलापुर पुलिया का निर्माण हो रहा है फिर आवारा सांड की समस्या
पूरे नबाबगंज के किसानो के लिए परेशानी बनी हुई है ऐसे में किसानो से सुनीता गंगवार वादा कर रही है की इन आवारा पशुओ से निजात मिलेगी दूसरी तरफ बरसों से बंद पड़े राजकीय इंटर कॉलेज और जी टी आई कॉलेज को खुलवा के चलवाने का भी उनका बादा है जिस तरफ से अरविन्द केजरीवाल की लोकप्रियता दिल्ली से निकलकर चंडीगढ़ होते हुए पंजाब पहुंच रही है और यूपी में भी दस्तक दे रही है उसकी धमक
नबाबगंज में देखने को मिल रही है अब आम आदमी पार्टी नबाबगंज में बड़े नेताओ का खेल बिगाड़ रही है क्यूंकि आम आदमी पार्टी को सभी जाति धर्म के लोग वोट देते रहे है ऐसे में नेता अब आम आदमी पार्टी की काट में लगे है
फिर भी आम आदमी पार्टी की काट निकाल पाना आसान नहीं होगा अब 14 फरवरी को ही पता चलेगा की जनता किसे चुनेगी

By Anurag

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *